अली मियां बॉस को मास्टर शेफ सम्मान

लखनऊ। लगभग 100 वर्षों से अधिक समय से चली आ रही अपने दादा परदादा की रेसिपी परंपरा को कायम रखते हुए अली मियां बॉस आज भी काकोरी सीख कबाब बनाते हैं। बॉस के नाम से मशहूर अली मियां मूलत काकोरी के कटिंगरा गांव के रहने वाले हैं। अली मियां के परदादा स्व सज्जाद हुसैन ने 1920 में काकोरी में सीख कबाब बनाने का काम शुरू किया जिसके बाद उनके बेटे मुस्तफा हुसैन ने इसको आगे बढ़ाया।
वह भारतीय रेल में नौकरी करते थे जिसके कारण उन्हें काकोरी से लखनऊ शिफ्ट होना पड़ा तथा यही नौकरी करते हुए सीख कबाब बनाने का काम जारी रखा। मुस्तफा हुसैन के बाद उनके बेटे अकबर अली जो नगर निगम में टैक्स कलेक्टर के पद पर कार्यरत थे ने भी काकोरी कबाब बनाना जारी रखा और अब उनके बेटे अली मियां जो लखनऊ नगर निगम से टैक्स कलेक्टर के पद से रिटायर हैं अपने परदादा की 100 साल से चली आ रही रेसिपी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए चौक स्थित बॉस काकोरी कबाब के नाम से यह कारोबार चलाते हैं। अली मियां ने बताया कि उनका बेटा मिर्जा अली अजमी जो बीटेक सिविल इंजीनियर है वह भी इस कारोबार को आगे बढ़ाना चाहता है। अली मियां बॉस के काकोरी सीख कबाब मुंबई से लेकर दुबई तक मशहूर है। इसी को दृष्टिगत रखते हुए फिल्म इंडिया कम्युनिकेशंस के बैनर तले चल रहे कार्यक्रम द अनटोल्ड कॉफी टेबल स्टोरीज के अंतर्गत अली मियां बॉस का चयन मास्टर शेफ सम्मान के लिए किया गया है। डॉ सिब्ते अब्बास ने बताया कि यह सम्मान अन्य शख्सियतों के साथ शीघ्र ही अली मियां बॉस को दिया जाएगा।
------------------------------------------------------------ Kakori Kavab Lucknow Chok

Comments

Popular posts from this blog

फिल्म फेयर एंड फेमिना भोजपुरी आइकॉन्स रंगारंग कार्यक्रम

अखिलेश ने मांगा लखनऊ के विकास के नाम वोट

कार्ल ज़ीस इंडिया ने उत्तर भारत में पहले अत्याधुनिक ज़ीस विज़न सेंटर का शुभारंभ