Posts

जारी हुआ बहुप्रतीक्षित डिजिटल करेंसी 'सनातनी'

Image
डिजिटल दुनिया और तकनीक को सनातन से जोड़ने के लिए, सनातनी कॉइंस ने सनातनी टोकन लॉन्च किया है। इसे टिकर SNTN द्वारा दर्शाया गया है, जो आध्यात्मिकता, प्रौद्योगिकी, तकनीक और समाज को जोड़ने का प्रयास करता है, और एक समृद्ध सांस्कृतिक विरासत साझा करने वाले लोगों के बीच एक मजबूत बंधन बनाता है।इस डिजिटल टोकन का उद्देश्य सनातन धर्म के गहन सिद्धांतों के साथ इससे जुड़े सभी विषयों को साथ जोड़ना है। अत्याधुनिक बीईपी-20 तकनीक से निर्मित यह टोकन आने वाले समय में विश्व में एक गहरी छाप छोड़ने के लिए तैयार है।यह डिजिटल टोकन लोगों को सशक्त बनाने के लिए ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग कर रहा है, इस ब्लॉकचेन के माध्यम से यह हिंदू धर्म से जुड़े लोगों को उनकी संस्कृति से जोड़े रखने में भी मदद करने का प्रयास करेगा। वर्तमान में इसकी सप्लाई करीब 12 बिलियन है, और पूरी उम्मीद है कि आने वाले समय में यह सप्लाई निरंतर बढ़ती रहेगी सनातनी कॉइंस के संस्थापक और भारतीय पुलिस महासंघ के अध्यक्ष अजय राज पांडे के अनुसार, कंपनी का लक्ष्य पारंपरिक मूल्यों और संस्कृतियों को संरक्षित करते हुए दुनिया को सनातन धर्म की विशेषताओं और गूढ़

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या में मकर संक्रान्ति को किसानों के लिए धानुका समूह की 10 मोबाइल वैन रवाना करेंगे

Image
 ऑडियो-विजुअल मोबाइल वैन ज्यादा फसल पैदावार के लिए गुणवत्तापूर्ण कृषि इनपुट के प्रति पैदा करेंगी जागरूकता लखनऊ: उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ 14 जनवरी को अयोध्या से धानुका समूह द्वारा तैयार 10 ऑडियो-विजुअल मोबाइल वैनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे, जिनका उद्देश्य किसानों के मध्य फसल पैदावार में वृद्धि के लिए गुणवत्तापूर्ण असली कृषि इनपुटों के महत्व पर जागरूकता पैदा करना है। इस अभियान की सफलता हेतु अपना आशीर्वाद देने के लिए तुलसी पीठाधीश्वर जगतगुरु श्री रामभद्राचार्यजी महाराज और युवराज श्री रामचरणदास जी भी इस अवसर की शोभा बढ़ायेंगे। किसानों को असली कृषि इनपुट इस्तेमाल करने और पक्के बिल लेने के महत्व पर जागरूक करने के लिए धानुका समूह ने देशव्यापी अभियान शुरू किया है। इन बिलों से तय होता है कि किसान ने कृषिरसायन सहित प्रमाणिक कृषि इनपुट लिए हैं। ये वैन मध्य एवं पूर्वी उत्तर प्रदेश में पूर्व-निर्धारित रूट पर आगे बढ़ते हुए किसानों में जागरूकता उत्पन्न करेंगी, जिसमें धानुका समूह की टीमें केवीके, कृषि विभाग और डीलरों सहित अन्य हितधारकों के सहयोग

एचडीएफसी बैंक परिवर्तन ने उ प्र में 2 करोड़ लोगों को प्रभावित किया

Image
परिवर्तन रिपोर्ट • राज्य में बैंक की सीएसआर पहुंच 30 जिलों तक फैली हुई है लखनऊ, 19 दिसंबर, 2023: भारत के निजी क्षेत्र के अग्रणी बैंक एचडीएफसी बैंक ने अपने सीएसआर ब्रांड परिवर्तन के तहत आज घोषणा की कि वह अब तक उत्तर प्रदेश राज्य में दो करोड़ से अधिक लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाया है। परिवर्तन अपने पांच स्तंभों के माध्यम से राज्य भर में कई सामाजिक क्रियाकलापों का क्रियान्वयन कर रहा है जैसे : ग्रामीण विकास, शिक्षा को बढ़ावा देना, कौशल प्रशिक्षण और आजीविका संवर्धन, स्वास्थ्य देखभाल और स्वच्छता, और वित्तीय साक्षरता और समावेशन। सुश्री नुसरत पठान, प्रमुख-सीएसआर, एचडीएफसी बैंक ने कहा, “एचडीएफसी बैंक परिवर्तन का लक्ष्य स्थानीय समुदायों के जीवन में गुणात्मक सुधार करना है। हमने राज्य में सबसे वंचित समूहों की पहचान की है और परिवर्तन के माध्यम से उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारा उद्देश्य वंचित समुदायों को सशक्त बनाकर गरीबी और हाशिए के चक्र को तोड़ना है और इस प्रकार, राष्ट्र निर्माण में योगदान देना है। ग्रामीण विकास इस स्तंभ के तहत, परिवर्तन समुदायों के समग्र ग्रामीण

डाबर च्यवनप्राश ने लॉन्च किया ‘साइंस इन एक्शन’ अवेयरनैस कैंपेन

Image
लखनऊ। भारत की प्रमुख विज्ञान आधारित आयुर्वेद कंपनी डाबर इंडिया लिमिटेड ने उपभोक्ताओं को आयुर्वेद के फायदों और सेहतमंद जीवनशैली के बारे में जागरुक बनाने के लिए जागरुकता अभियान ‘साइंस इन एक्शन’ की शुरूआत की है। यह कैंपेन आयुर्वेद के संबंध में वैज्ञानिक रूप से जांचे गए तथ्यों के बारे में बताएगा, ताकि परिवार सोच-समझ कर अपने रोज़मर्रा के विकल्पों को चुन सकें और स्वस्थ रह सकें। ‘साइंस इन एक्शन’ के तहत डाबर- सोशल मीडिया, प्रिंट प्लेटफॉर्म एवं अन्य ऑन-ग्राउण्ड एक्टिवेशन्स जैसे डाबर च्यवनप्राश इम्यून इंडिया कैंपेन के माध्यम से उपभोक्ताओं को आयुर्वेद के बारे में सही जानकारी उपलब्ध कराएगा। यह कैंपेन आम जनता को आयुर्वेद के पीछे निहित विज्ञान के बारे में जानकारी देगा, इसके तहत जाने-माने आयुर्वेदिक चिकित्सक उन्हें आयुर्वेद के प्रमाणित फायदों के बारे में बताएंगे। कैंपेन लांचिंग के दौरान डाबर इंडिया लिमिटेड एजीएम मार्केटंग, हेल्थ सप्लीमेन्ट्स- श्री राकेश टहलियानी, डॉ बैद्यनाथ मिश्रा, हैड ऑफ हेल्थकेयर रीसर्च, डाबर रीसर्च एण्ड डेवलपमेन्ट सेंटर, आयुर्वेद के प्रमुख डा. परमेश्वर अरोरा मौजूद थे। कैंपेन क

मेदांता लखनऊ में यूपी का पहला हाई डोनर स्पेफिफिक एंटीबॉडी बोन मैरो ट्रांसप्लांट

Image
अभूतपूर्व हाफ-मैच बोन मैरो ट्रांसप्लांट बना रोगियों के लिए नई आशा की किरण लखनऊ: चिकित्सा उपचार में नए प्रतिमान और आयाम रचते हुए मेदांता अस्पताल लखनऊ ने एक महत्वपूर्ण ट्रांसप्लांट में हाफ मैच डोनर का उपयोग करके दो अभूतपूर्व बोन मैरो ट्रांसप्लांट को सफलतापूर्वक संपन्न किया। बोन मैरो ट्रांसप्लांट में की गई यह एडवांस्ड प्रक्रिया उन रोगियों के लिए आशा की नई किरण लेकर आई है जो पहले फुल मैच डोनर खोजने की चुनौतियों के कारण सीमित विकल्पों का सामना कर रहे थे। हाफ मैच बोन मैरो ट्रांसप्लांट, जिसे हैप्लोआइडेंटिकल ट्रांसप्लांट के रूप में भी जाना जाता है, संभावित दाताओं के पूल को विस्तारित करता है, जिससे जीवन-रक्षक उपचार की आवश्यकता वाले व्यक्तियों के लिए उपयुक्त मैच खोजने की संभावना बढ़ जाती है। यह अभिनव दृष्टिकोण ट्रांसप्लांट चिकित्सा के क्षेत्र में एक सफलता की नई इबारत लिखता है। मेदांता अस्पताल लखनऊ में इस प्रक्रिया की देखरेख कर रहे हेमेटो-ऑन्कोलॉजी के निदेशक डॉ. अंशुल गुप्ता ने कहा, “हम खतरनाक बीमारी अप्लास्टिक एनीमिया से पीड़ित 22 वर्षीय रोगी में हाई डोनर स्पेफिफिक एंटीबॉडी के साथ यूपी का

मणिपालसिग्ना हेल्थ इंश्योरेंस की स्वास्थ्य चुनौतियों से निपटने के लिए स्वास्थ्य बीमा सॉल्यूशन पेश

Image
लखनऊ – सबसे तेजी से बढ़ती स्टैंडअलोन स्वास्थ्य बीमा कंपनियों में से एक, मणिपालसिग्ना हेल्थ इंश्योरेंस, उत्तर प्रदेश और उत्तर भारत में सक्रिय रूप से अपनी पहुंच बढ़ा रही है। कंपनी का लक्ष्य स्वास्थ्य देखभाल वित्तपोषण जरूरतों की एक विस्तृत श्रृंखला को पूरा करना है और विभिन्न ग्राहक वर्गों की अद्वितीय स्वास्थ्य आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए नए स्वास्थ्य बीमा सॉल्यूशन पेश किए हैं। उत्तर प्रदेश के बाजार पर ध्यान केंद्रित करने के साथ, मणिपालसिग्ना का लक्ष्य स्वास्थ्य बीमा को अपनाने की दर को बढ़ाना है और अपने ग्राहकों को उच्च गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवाओं तक सुविधाजनक और आजीवन पहुंच प्रदान करना है। मणिपालसिग्ना हेल्थ इंश्योरेंस की मुख्य विपणन अधिकारी सपना देसाई ने कहा, राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-5 (एनएफएचएस-5) के अनुसार, उत्तर प्रदेश में केवल 15.9% परिवार स्वास्थ्य बीमा या वित्तपोषण द्वारा कवर किए गए हैं। इस क्षेत्र में जीवनशैली से संबंधित बीमारियों और सड़क दुर्घटनाओं में भी वृद्धि देखी गई है। इस स्वास्थ्य देखभाल की जरूरतों और उपचार के खर्चों का समाधान करने के लिए, मणिपाल सि

फिजिक्स वाला विद्यापीठ सेंटर्स की संख्या 74 तक पहुंची

Image
फिजिक्स वाला ने पूरे भारत में फिजिक्स वाला नेशनल स्कॉलरशिप कम एडमिशन टेस्ट का दूसरा चरण शुरू किया। इसमें 200 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। लखनऊ : भारत की अग्रणी एडटेक कंपनी फिजिक्स वाला के ऑफ़लाइन सेंटर्स विद्यापीठ की संख्या पूरे भारत के 50 शहरों में 74 तक पहुंच चुकी है। इनका उद्देश्य छात्रों को उनके गृहनगर के करीब ही उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा पहुंचाना है। इससे उन्हें दूसरे शहरों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। हम उनको आसानी से सीखने की हर सुविधा पहुंचाना चाहते हैं। पीडब्ल्यू विद्यापीठों में अपनी ऑफरिंग्स के बारे में जानकारी प्रदान करने के लिए 10 विद्यापीठ सूचना केंद्र और 27 शहरों में 28 पाठशालाएं भी संचालित करता है, जहां हाइब्रिड कक्षाएं चलती हैं। इसके अतिरिक्त, पीडब्ल्यू फिजिक्स वाला नेशनल स्कॉलरशिप कम एडमिशन टेस्ट (पीडब्ल्यूएनसैट) के दूसरे चरण का भी शुभारंभ करेगा, जिसमें 200 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। कक्षा 6 से 12 तक के छात्रों और जेईई या नीट के इच्छुक छात्रों के लिए ऑफ़लाइन और ऑनलाइन मोड में परीक्षाएं कराई जाएंगी। जिसमें सौ फीसदी तक छात्रवृत्ति प