CITYMALL के लखनऊ सम्मेलन में उद्यमियों ने पीएम नरेंद्र मोदी के "आत्मनिर्भर भारत" के दृष्टिकोण का समर्थन का संकल्प

CITYMALL के लखनऊ सम्मेलन में उद्यमियों ने पीएम नरेंद्र मोदी के "आत्मनिर्भर भारत" के दृष्टिकोण का समर्थन करने का संकल्प लिया। सिटी मॉल की "आत्मनिर्भर भारत" बैठक निम्न और मध्यमआय वर्ग की पृष्ठभूमि से आने वाले हजारों कम्युनिटी लीडर्स को नए भारत के उद्यमी बनने के लिए सशक्त बनाने पर केंद्रित है। कम्युनिटी लीडर्स के जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए कई योजनाएं शुरू की गईं| लखनऊ, 17 जुलाई, 2022: भारत की महत्वाकांक्षाओं को सशक्त बनाने के प्रयास में, सिटी मॉल ने अपने कम्युनिटी लीडर्स के लिए "आत्मनिर्भर भारत" बैठक आयोजित की, जिन्होंने आत्मनिर्भरता और राष्ट्र निर्माण में एक भूमिका निभाने का संकल्प लिया। उत्तर प्रदेश सरकार में राज्य मंत्री श्री सतीश चंद्र शर्मा और उत्तर प्रदेश उच्च न्यायालय की पूर्व अतिरिक्त महाधिवक्ता श्रीमती सुनीति सचान ने इस कार्यक्रम को हरी झंडी दिखाकर कम्युनिटी लीडर्स का उत्साह वर्धन किया। सिटीमॉल कम्युनिटी लीडर्स ने अपने उपभोक्ताओं के लिए जीवन की गुणवत्ता में सुधार करते हुए खुद के लिए व्यावसायिक अवसर पैदा किए हैं। वे गैर-मेट्रो शहरों में वस्तुओं और सेवाओं को उपभोक्ताओं तक बेहतर रूप से प्रदान करने में सहायक रहे हैं। लखनऊ में एक स्टेशनरी की दुकान के मालिक मुकेश, जिन्होंने COVID-19 के कारण अपनी नौकरी खो दी, मुमताज जिन्होंने अपने परिवार की देखभाल के लिए अपनी बैंक की नौकरी से इस्तीफा दे दिया, रतेंद्र, जिन्होंने दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना के कारण अपनी आजीविका खो दी और लखनऊ के सैकड़ों अन्य कम्युनिटी लीडर्स ने घर से अपना व्यवसाय स्थापित किया हैं और अपने परिवार का समर्थन करने में सक्षम हैं। इन उद्यमियों को मुख्य अतिथि श्री सतीश चंद्र शर्मा और श्रीमती सुनीति सचान ने अभिवादन किया। सिटीमॉल की 'सशक्त भारत' की पहल पर बोलते हुए, श्री सतीश चंद्र शर्मा ने कहा, "गरीबी और मेट्रो शहरों में प्रवासन का मुद्दा हमारे देश के लिए एक चुनौती है और समाधान हमारे माननीय प्रधान मंत्री की दृष्टि में निहित है। मुझे ये देखकर हर्ष है कि यह पहल टियर -2 और 3 शहरों में लोगों के लिए अपने परिवार के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने के अवसर पैदा कर रही है और भारत के सपने - मजबूत, सुरक्षित, समृद्ध और अजेय - एक आत्मनिर्भर भारत में योगदान दे रही है।" सिटीमॉल वर्तमान में 25 शहरों में महिलाओं, विशेष रूप से विकलांग और सेवानिवृत्त व्यक्तियों सहित 25,000 सूक्ष्म-उद्यमियों की सहायता कर रहा है, जो 25 शहरों में 10-15 हजार मासिक कमाते हैं और उनकी पहल 'नए भारत के नए उद्यमियों' के तहत, अगले 12 महीने में उन्होंने 1 लाख उद्यमियों को सहायता प्रदान करने की योजना बनाई है । सिटीमॉल के बारे में सिटीमॉल एक सोशल ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म है जो अपने कम्युनिटी लीडर्स के माध्यम से गैर-मेट्रो शहरों में उपभोक्ताओं को सामान और सेवाओं तक आसान पहुंच प्रदान करता है। इसके कम्युनिटी लीडर्स सूक्ष्म-उद्यमी हैं जो सिटीमॉल के माध्यम से 10-15 हजार मासिक कमाते हैं। मुख्य बिंदु सिटीमॉल के:- 25,000+ सूक्ष्म उद्यमी 25+ शहर -5 मिलियन+ उपभोक्ता -सिटीमॉल को 5,000 से अधिक महिलाओं और विशेष रूप से सक्षम व्यक्तियों के उद्यमी सपनों का समर्थन करने पर गर्व है। - नए उद्यमी सिटीमॉल से 89529 89529 पर संपर्क कर सकते हैं|

Comments

Popular posts from this blog

फिल्म फेयर एंड फेमिना भोजपुरी आइकॉन्स रंगारंग कार्यक्रम

कार्ल ज़ीस इंडिया ने उत्तर भारत में पहले अत्याधुनिक ज़ीस विज़न सेंटर का शुभारंभ

फीनिक्स पलासियो में 'एट' स्वाद के शौकीनों का नया रोचक डाइनिंग एक्सपीरियंस