लखनऊ  की खूबसूरती मे बॉलीवुड का रोमांटिक  म्यूज़िक है : लफँगे नवाब 

हुजैफा
लख़नऊ : मनोरंजन की दुनियाँ में हिंदी फ़िल्मों के  गीत और संवाद को दर्शको का पहला प्यार मिलता है। कुछ ऐसा ही निर्मात्री माही आनंद अपनी म्यूज़िकल  लव स्टोरी "लफँगे नवाब" के संगीत की सफ़लता  के लिए आशान्वित है। लख़नऊ और आस पास के लॉकेशन्स पर फ़िल्मायी गयी गुलशन आनंद फिल्म्स के बैनर तले निर्मित फिल्म  लफँगे  नवाब का संगीत नवाबों के शहर  में जारी किया गया फिल्म के संगीत  लांच के साथ ही  फिल्म  की निर्मात्री माहीं आनंद के बेटे मान्य आनंद का बर्थ ड़े भी  सेलिब्रेट किया गया। इस अवसर पर फिल्म  के मुख्य  कलाकार रोबिन सोही, लेरिसा  चेकस,  रतन राठौड़,  निर्माता अर्पित अवस्थी और माही आनंद निर्देशक  सनोज मिश्रा, लखनऊ एक्ज्यूटिव प्रोड्यूसर  सचिन  तिवारी उपस्थित रहे। फिल्म लफंगे नवाब  एक  रोमांटिक म्यूजिकल  लव स्टोरी है। फिल्म में चार गाने  है। पहले तीन  गानों को  संगीतकार अली  फैज़ल  ने तैयार किया है। पहला गीत "तेरे लिए छोड़ी सारी  खुदाई " को  लोकप्रिय गायिका  पालक  मुच्छाल  ने गाया है। गीत के बोल पुष्पेन्द्र सिंह ने लिखे है। फिल्म  में आकर्षित करने वाला पार्टी सांग " तू दारु का नशा  है"  को शाहदरा माल्या ने अपनी आवाज दी है।  अली फैज़ल ने गाने के बोल लिखे है। तीसरा गीत एक  रोमांटिक सैड नंबर सुलझती नहीं को गायक  अलतमस ने गाया है। उसे सनोज मिश्रा ने लिखा है। फिल्म का चौथा गीत  "प्यारी प्यारी सी नादानियाँ "  को गायक दीपक कुमार शर्मा ने आवाज दी है। गाने के बोल मोहित आकाश दिवान ने लिए है। जबकि फ़िल्म का इस गीत के संगीतकार दानिश  अली है। 
लफंगे नवाब म्यूजिकल सस्पेंस और मिस्ट्री की ऐसी ही फिल्म है जिसमे प्यार  दोस्ती रिश्ते के बीच सस्पेंस  भी है। लख़नऊ और मुंबई  के ख़ूबसूरत लोकेशन  पर  फ़िल्मायी गयी लफंगे नवाब एक सस्पेंस ड्रामा  फिल्म  है। फिल्म में प्रमुख किरदारों  में रोबिन सोही, रितम भारद्वाज ,लेरिसाचेकस, रतन राठौड़, निशा श्रीवास्तव नजर आएंगे। 
लफंगे नवाब की कहानी फिल्म के मुख्य नायक यूग औरउसके पिता शहर के सबसे बड़े व्यवसायी सिंघानिया के आसपास घूमती है।सिंघानिया शहर के मशहूर  व्यापारी हैं। वह चाहते हैं कि उनका बेटा युग उनके
काम को संभाले। निर्मात्री माही आनंद ने कहा "लफँगे  नवाब कहानी जितनी ऱोचक  है फ़िल्म का  संगीत  भी उतना ही कर्ण प्रिय है। लफँगे नवाब गुलशन  आनंदफ़िल्म्स की पहली फिल्म है।इसलिए  पूरी टीम ने बहुत हार्ड वर्क किया है मैं चाहती  थी की यह फिल्म नवाबों के शहर की है इसलिए इसका संगीत भी लखनऊ में ही लांच किया जाए।
निर्देशक सनोज मिश्रा ने बताया फिल्म लफँगे  नवाब आज के दर्शको के लिए बनायीं फिल्म  है युवा संगीत की तरफ जल्दी से आकर्षित होते है।इसलिए यह फिल्म दर्शको को सम्पूर्ण मनोरंजन  देने में सफल रहेगी। फिल्म का संस्पेंस दर्शको  को आखिरी सीन तक बाँध कर रखेंगा।  

Comments

Popular posts from this blog

फिल्म फेयर एंड फेमिना भोजपुरी आइकॉन्स रंगारंग कार्यक्रम

कार्ल ज़ीस इंडिया ने उत्तर भारत में पहले अत्याधुनिक ज़ीस विज़न सेंटर का शुभारंभ

फीनिक्स पलासियो में 'एट' स्वाद के शौकीनों का नया रोचक डाइनिंग एक्सपीरियंस