सैमको म्यूचुअल फंड ने पेश किया विशिष्ट ईएलएसएस टैक्स सेवर फंड

• ‘सैमको ईएलएसएस टैक्स सेवर फंड’ मुख्य रूप से मध्यम आकार एवं छोटी कंपनियों में निवेश करेगा जिनमें वृद्धि की बहुत अधिक संभावनाएं मौजूद हैं और जो लंबी अवधि में काफी बढ़िया जोखिम समायोजित रिटर्न दे सकते हैं.
• फंड की कुछ खास बाते हैं; जैसे कि ये मुख्य रूप से मझोले एवं छोटे आकार के उच्च गुणवत्ता वाले, ग्रोथ-ओरिएंटेड बिजनेस में निवेश करेगा जिसका मार्केट शेयर काफी अधिक है, जिनकी प्राइसिंग पावर काफी अधिक है, जिनका कॉरपोरेट गवर्नेंस उच्च मानकों के अनुरूप है और बैलेंस शीट काफी मजबूत है • एनएफओ 15 नवंबर को खुलेगा और 16 दिसंबर को बंद होगा लखनऊ: सैमको ईएलएसएस टैक्स सेवर फंड कुशल मिड-कैप और स्मॉल-कैप बिजनेस का एक पोर्टफोलिया होगा. इस ईएलएसएस में अनिवार्य तौर पर तीन साल का लॉक-इन पीरियड होगा जो धन सृजन का एक शानदार माध्यम साबित हो सकता है. निवेशकों को मजबूत बुनियाद और भविष्य में धन सृजन की अत्यधिक संभावनाओं वाले बिजनेसेज में निवेश करने में मदद करने को लेकर सैमको ईएलएसएस टैक्स सेवर फंड हेक्साशील्ड फ्रेमवर्क का इस्तेमाल करता है. यह टेक्नोलॉजी पर आधारित एक प्रोपरायटरी रणनीति है जिसके जरिए निवेश करने योग्य उच्च गुणवत्ता वाले अच्छे शेयरों को चुना जाता है. फंड मैनेजमेंट टीम ऐसी निवेश योग्य कंपनियों का विश्लेषण करती है और पूंजी के आधार पर उच्च समायोजित रिटर्न देने में सक्षम ग्रोथ-ओरिएंटेड (वृद्धि उन्मुखी) बिजनेसेज का एक पोर्टफोलियो तैयार करती है. तीन साल के औसत रोलिंग रिटर्न के आधार पर ये बात सामने आती है कि निफ्टी मिडस्मॉलकैप 400 इंडेक्स ने एक अप्रैल, 2005 के बाद से निफ्टी500 इंडेक्स की तुलना में आठ फीसदी ज्यादा रिटर्न दिया है (डिस्क्लेमरः अतीत का प्रदर्शन भविष्य में बरकरार रह भी सकता है और नहीं भी. यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि ये रिटर्न एक इंडेक्स का है ना कि किसी खास स्कीम का). मिड-कैप और स्मॉल-कैप बिजनेसेज की एक साल की होल्डिंग की तुलना में तीन साल की होल्डिंग से बाजार के उतार-चढ़ाव का असर काफी कम रह जाता है. ऐसे में कोई भी निवेशक कम-से-कम तीन साल तक होल्डिंग के साथ ऐसे फंड्स से उच्च जोखिम-समायोजित रिटर्न हासिल कर सकता है जिसका एक्सपोजर मिड-कैप एवं स्मॉल-कैप बिजनेसेज में होता है. इंडस्ट्री में एक मिथक है कि आम तौर पर मिड-कैप्स और स्मॉल-कैप्स उनके आकार की वजह से खराब क्वालिटी के बिजनेस होते हैं. दूसरी ओर असलियत में कुछ बिजनेसेज आकार में छोटा होने के बावजूद अपनी श्रेणी में शीर्ष पर होते हैं जिनकी आमदनी से जुड़ा ग्रोथ ठोस होता है. सही कंपनी में निवेश करने के लिए बिजनेस की विशेषताओं को समझना आवश्यक होता है जो ऐसी कंपनियों को आने वाले समय में बड़ी कंपनी बनाती हैं क्योंकि एक मिड-कैप स्टॉक अपने लाइफटाइम में दो तरह के नतीजे दे सकता है- एक मिड-कैप स्टॉक बाद में एक स्मॉल-कैप स्टॉक यानी आपकी गाढ़ी कमाई को बर्बाद करने वाला साबित हो सकता है. दूसरी ओर, कोई मिड-कैप स्टॉक भविष्य में धन का सृजन करने वाला लार्ज-कैप स्टॉक भी बन सकता है. सैमको ईएलएसएस टैक्स सेवर फंड मुख्य रूप से मिड और स्मॉलकैप स्टॉक्स में निवेश करता है भारत में अधिकतर ईएलएसएस फंडस का एक्सपोजर लार्ज-कैप स्टॉक में होता है और उनकी शीर्ष होल्डिंग्स में कमोबेश एक ही तरह के कुछ स्टॉक होते हैं. इस वजह से किसी भी निवेशक के लिए इस तरह के अलग-अलग फंड्स में अंतर कर पाना काफी मुश्किल भरा होता है. वहीं, सैमको टैक्स सेवर फंड एक अलग तरह का फंड है क्योंकि यह मुख्य रूप से ऐसे मिड-कैप और स्मॉल-कैप हाई ग्रोथ स्टॉक्स में निवेश करता है जिनमें भविष्य में काफी बेहतर प्रदर्शन करने की संभावनाएं मौजूद होती हैं और साथ-ही-साथ तीन साल के अनिवार्य लॉक-इन पीरियड से काफी अधिक उतार-चढ़ाव को कम करने में मदद मिलती है. सैमको म्यूचुअल फंड अपनी वेबसाइट पर ईएलएसएस टैक्स सेवर फंड के एक्टिव शेयर को हर दिन सार्वजनिक करेगा.
पारस मटालिया, हेड ऑफ़ इक्विटी रिसर्च, सैमको म्यूचुअल फंड ने कहा, “आप आज जिन लार्ज-कैप स्टॉक्स में निवेश करते हैं, वे अतीत में कभी मिड-कैप स्टॉक्स थे और मिड-कैप से लार्ज-कैप बनने की इस प्रक्रिया में निवेशकों ने काफी अधिक पैसे कमाए हैं. सैमको ईएलएसएस टैक्स सेवर फंड के साथ हम निवेशकों को सेक्शन 80C के तहत लाभ प्राप्त करने और कम-से-कम तीन साल तक कुशलतापूर्वक तरीके से वृद्धि हासिल करने वाले मिड कैप और स्मॉल-कैप बिजनेस बनने का एक्सपोजर प्रदान करते हैं. इसके पीछे का आइडिया निवेशकों को बढ़िया सेक्टरर्स की मिड और स्मॉल-कैप कंपनियों में निवेश के जरिए भारत की विकास यात्रा का भागीदार बनाने का है. इसकी वजह ये है कि ये बिजनेसेज भविष्य में देश की प्रगति के वाहक सिद्ध हो सकते हैं और वे काफी अधिक ग्रोथ हासिल कर सकते हैं.” पारस ने साथ ही कहा, “ऐतिहासिक तौर पर निफ्टी मिडस्मॉलकैप 400 टीआरआई ने तीन साल के एवरेज रोलिंग रिटर्न बेसिस पर निफ्टी 500 टीआरई की तुलना में आठ फीसदी ज्यादा रिटर्न दिया. तीन साल के लॉक-इन फीचर के साथ मिडकैप एवं स्मॉलकैप कंपनियों के पोर्टफोलियो से बहुत अधिक जोखिम समायोजित रिटर्न हासिल हो सकता है.” श्री ऋषि धवन, रीजनल हेड (नॉर्थ), सैमको ग्रुप कहा, “सैमको म्यूचुअल फंड खुदरा निवेशकों को सशक्त बनाना चाहता है और ऐसे समाधान पेश करना चाहता है जो उन्हें निवेश की यात्रा के दौरान स्मार्ट फैसले लेने में मदद करे. सक्रिय नवोन्मेषी उत्पाद क्यूरेट करने के सैमको के डीएनए के अनुरूप ईएलएसएस फंड मुख्य रूप से बहुत अधिक संभावनाओं वाले मिड एवं स्मॉलकैप कंपनियों में निवेश करेगा.” डिस्क्लेमरः म्यूचुअल फंड निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है. योजना से जुड़े सभी दस्तावेजों को ध्यानपूर्वक पढ़ें. डिस्क्लेमरः अतीत का प्रदर्शन भविष्य में बरकरार नहीं भी रह सकता है. -------------------------------------------------------- SAMCO ELSS TAX SAVER FUND

Comments

Popular posts from this blog

फिल्म फेयर एंड फेमिना भोजपुरी आइकॉन्स रंगारंग कार्यक्रम

अखिलेश ने मांगा लखनऊ के विकास के नाम वोट

कार्ल ज़ीस इंडिया ने उत्तर भारत में पहले अत्याधुनिक ज़ीस विज़न सेंटर का शुभारंभ