14 साल पहले पैंक्रियाज कैंसर के सफल इलाज के बाद अब भी स्वस्थ

14 साल पहले पैंक्रियाज कैंसर के सफल इलाज के बाद अब भी स्वस्थ लखनऊ : सहारा हॉस्पिटल के वरिष्ठ गैस्ट्रोसर्जन डॉक्टर पुनीत गुप्ता ने सर्जरी करके एक मरीज को पैंक्रियाज कैंसर से मुक्ति दिलायी। यह सर्जरी 14 साल पहले की गयी थी लेकिन मरीज अब भी स्वस्थ जीवन व्यतीत कर रहा है। फालोअप में आए मरीज ने बेहतर इलाज के लिए डाक्टर के प्रति आभार जताया। 65 वर्षीय मरीज असगर नवाब को लगभग 14 साल पहले पीलिया की शिकायत हुई थी और इसके लिए उन्होंने प्राइवेट हॉस्पिटल में परामर्श लिया था। उसी समय इलाज के दौरान मरीज के पैंक्रियाज में एक गांठ दिखाई दी थी परन्तु मरीज वहां पर इलाज कराने में संतुष्ट नहीं थे। फिर लखनऊ के एसजीपीजीआई में दिखाया लेकिन वहां पर उचित इलाज नहीं हो पा रहा था, तब सहारा हॉस्पिटल के वरिष्ठ गैस्ट्रोसर्जन डॉक्टर पुनीत गुप्ता को दिखाया। उन्होंने मरीज को देखने के बाद उसकी कुछ जरूरी जांचें करवाने को कहा। जांच से पता चला कि मरीज को पैंक्रियाज का कैंसर है, तो डॉक्टर गुप्ता ने मरीज को आपरेशन करवाने की सलाह दी। मरीज की सहमति के बाद पैंक्रियाज कैंसर की व्हिपल्स सर्जरी सफलतापूर्वक की गयी। डॉक्टर गुप्ता ने बताया कि पैंक्रियाज कैंसर एक अत्यंत खराब बिमारी हैं।‌‌ इस बीमारी में आपरेशन के पांच साल के बाद तक आमतौर पर 20 से 25 प्रतिशत मरीज ही जीवित रह पाते हैं परन्तु 14 साल के बाद भी मरीज डॉक्टर पुनीत के सम्पर्क में है और स्वस्थ भी है। मरीज ने डॉक्टर गुप्ता के इलाज के लिए उनको बार-बार धन्यवाद दिया। इसके बाद उक्त मरीज ने और भी कई मरीजों को इलाज के लिए डॉक्टर गुप्ता के पास भेजा जहां उन्हें सफलतापूर्वक इलाज मिला जिससे कई मरीज बेहद संतुष्ट हुए। सहारा इंडिया परिवार के वरिष्ठ सलाहकार अनिल विक्रम सिंह ने बताया कि हमारे अभिभावक सहाराश्री जी ने जिस सोच व विजन से सहारा हॉस्पिटल निर्मिंत करवाया था, उसको सहारा हॉस्पिटल की टीम निरंतर गौरवान्वित करने की तरफ अग्रसर है। समय-समय पर अति गंभीर अवस्था में आए मरीजों को कुशल टीम के नेतृत्व में सफल इलाज मिलता है। ------------------------------------- Sahara hospital, पैंक्रियाज कैंसर lucknow

Comments

Popular posts from this blog

फिल्म फेयर एंड फेमिना भोजपुरी आइकॉन्स रंगारंग कार्यक्रम

अखिलेश ने मांगा लखनऊ के विकास के नाम वोट

कार्ल ज़ीस इंडिया ने उत्तर भारत में पहले अत्याधुनिक ज़ीस विज़न सेंटर का शुभारंभ