भूमाफिया मुकेश और ऊषा श्रीवास्तव पर एफआईआर दर्ज

लखनऊ । वरिष्ठ पत्रकार हरीराम त्रिपाठी के आवासीय प्लाट पर कब्ज़ा करने की कोशिश कर रहे भूमाफि या मुकेश शुक्ला और ऊषा श्रीवास्तव के खिलाफ  इन्दिरा नगर थाने में मुक़दमा दर्ज हुआ है। इन्दिरा नगर थाना की तकरोही पुलिस चौकी के अंतर्गत बुद्ध विहार कालोनी अमरई गांव में पत्रकार त्रिपाठी का दो हजार वर्ग फु ट का एक प्लाट है। इसे उन्होंने मार्च 2004 में अपने छोटे पुत्र शेखर के नाम खऱीदा था। इसमें बाउंड्री बनाकर एक कमरा बनाया था तथा उनका कब्ज़ा बरकऱार है। 2004 से अब तक कभी कोई विवाद नहीं हुआ था। पिछले दो-तीन महीनों से एक दलाल इस प्लाट को अपना बताकर बेचने का प्रयास कर रहा था। जानकारी मिलने पर श्री त्रिपाठी ने दीवार पर अपना नाम व मोबाइल नंबर लिखवा दिया। 27 अगस्त को इन्दिरा नगर के थानाध्यक्ष को जालसाजी व धोखाधड़ी की सम्भावना व्यक्त करते हुए प्रार्थनापत्र भी दिया था। पुलिस सक्रिय हुई तो  बाराबंकी का मूल निवासी मुकेश कुमार शुक्ला नाम का भूमाफिया सामने आया और खुद को वकील बताया। वह एक महिला डॉ ऊषा श्रीवास्तव के नाम की रजिस्ट्री का हवाला देकर कहने लगा उसने प्लाट खरीद लिया है। उसने यह भी दावा किया कि वह 16 वर्षों से काबिज है। उसने अपनी आयु 30 साल बताया। पुलिस ने कहा 16 साल पहले वह मात्र 14 साल का नाबालिग था तो बात बनाने लगा। उसने कहा ऊषा श्रीवास्तव उसकी मुअक्किल हैं, कभी कहता उसने अग्रीमेंट कराया है तो कभी कहता रजिस्ट्री करवा लिया है। फि र मुख़्तार आम होने का दावा करने लगा। अन्त में कहने लगा कि वह ऊषा श्रीवास्तव का वारिस है। लेकिन कोई दस्तावेज नहीं दिखा सका। उसकी सिफारिश में मनोज कुमार शुक्ला नाम का एक छुटभैया नेता भी आया था। अंतत: 12 सितम्बर को इन्दिरा नगर पुलिस ने मुकेश कुमार के खिलाफ  भारतीय दंड संहिता की धारा 107-116 की कार्यवाही कर दिया। 10 अक्टूबर-20 को भूमाफि या मुकेश शुक्ला, मनोज शुक्ला, संतोष चतुर्वेदी, ए एन मिश्र एक महिला व चार अन्य व्यक्ति आये और कब्ज़ा करने की नीयत से गेट को तोडने की कोशिश किया जिसकी सूचना प्लाट के मालिक त्रिपाठी ने पुलीस को दी। मोहल्ले के लोगों के एकत्र होने और पुलिस के पहुँचने से पहले उपरोक्त लोग भाग गए। उन लोगों के विरुद्ध पुलिस ने थाना इन्दिरा नगर में एफ आईआर संख्या 0377 दिनांक 10-10-2020 धारा 147, 504, 506,507 और 427 आईपीसी के अंतर्गत मुक़दमा पंजीकृत कर लिया है।


Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

फिल्म फेयर एंड फेमिना भोजपुरी आइकॉन्स रंगारंग कार्यक्रम

अखिलेश ने मांगा लखनऊ के विकास के नाम वोट

कार्ल ज़ीस इंडिया ने उत्तर भारत में पहले अत्याधुनिक ज़ीस विज़न सेंटर का शुभारंभ