पुराने इस्कॉन मंदिर में श्री कृष्ण जन्म नहीं, बल्कि जन्मदिन मनाया जाता है

इस्कॉन मंदिर में धूमधाम से श्री कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया
लखनऊ। राजधानी के चारबाग, बांसमंडी स्थित पुराने इस्कॉन मंदिर में शुक्रवार को धूमधाम से भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव मनाया गया। खास बात यह कि इस मंदिर में प्रभु का जन्म नहीं करवाया जाता बल्कि जन्मदिन मनाया जाता है। श्री श्रीगौर राधाकृष्ण मंदिर की वरिष्ठ सदस्या तथा कार्यक्रम संयोजिका प्रीति गर्ग ने बताया कि में कई दिनों से श्री कृष्ण जन्माष्टमी की तैयारियां चल रही थी। पूरे मंदिर को फूलों और गुब्बारों से सजाया गया। सुबह 4:30 बजे भगवान का श्रंगार शुरू हुआ। अभिषेक के बाद फूलों का श्रंगार, वस्त्र, आभूषण धारण करवाने के पश्चात खीर का भोग लगा और मंगल आरती की गई। इसके बाद 9 बजे मंदिर के पट खुले तथा प्रभु जी का दर्शन लाभ पूरे दिन भक्तों को प्राप्त होता रहा। सुबह 9 बजे भोग व आरती के बाद अखण्ड कीर्तन शुरू हुआ जो रात 12:30 बजे तक चलता रहा। सांयकाल 4:30 भगवान को फलों का भोग लगाकर आरती की गई। शाम को 6:30 बजे तुलसी आरती के बाद 7 बजे भव्य आरती की गई। रात्रि 10 बजे पुनः अभिषेक हुआ और ठीक 12 बजे भगवान को छप्पन भोग लगाकर भक्तों में प्रसाद वितरण किया गया। मंदिर के संत पृथु दास महाराज ने बताया कि शनिवार को श्रील प्रभुपाद व्यासपूजा का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा जिसमें अपराह्न 11 बजे गुरुदेव का अभिषेक, छप्पन भोग और आरती होगी और फिर दोपहर से प्रभु इच्छा तक भण्डारा चलेगा।

Comments

Popular posts from this blog

सुपरस्टार रणबीर कपूर की उपस्थित में मॉल लुलु मॉल में 11-स्क्रीन सिनेमा हॉल का शुभारंभ

फिल्म फेयर एंड फेमिना भोजपुरी आइकॉन्स रंगारंग कार्यक्रम

अखिलेश ने मांगा लखनऊ के विकास के नाम वोट