त्योहार में बादाम से बढ़ाएं बच्चे की इम्यूनिटी

फेस्टिव सीजन में बादाम से बनाएं बच्चे की  इम्यूनिटी मजबूत 

भारत में त्योहार सभी के दिलों के नजदीक हैं क्योंकि इस दिन पूरे परिवार के लोग एक साथ मिलकर आपस में खुशियां बांटते हैं। लेकिन यह बच्चों के लिए एक ऐसा मौका होता हैए जब उन्हें सामान्य दिनों के रूटीन से अलग हटकर  स्नैक्स और मिठाइयां खाने का मौका मिलता हैए जो वास्तव में काफी नुकसान पहुंचाने वाली होती हैं। इससे आगे चलकर बच्चों की सेहत और इम्यु निटी को नुकसान पहुंच सकता है। न्यूाट्रीशन स्पेश्यीलिस्ट और पाइलेट्स एक्सपर्ट माधुरी रुईया के अनुसारए फेस्टिव सीजन में बच्चों के खाने के तरीके पर विशेष निगाह रखना बेहद महत्वपूर्ण हैए जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि वह अपने स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाने की जगह सेहत और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाले पोषक और स्वादिष्ट खाद्य पदार्थों का ही सेवन कर रहे हैं। नीचे दिए गए 3 फूड आइटम्स की सिफारिश करते हुए माधुरी कहती हैं कि ये चीजें पैरंट्स के पास फेस्टिव सीजन में मौजूद होने ही चाहिए। अभिभावकों को इन खाद्य पदार्थों को बच्चों के रोजाना के खाने में शामिल कर यह ध्याटन रखना चाहिए कि बच्चे त्योहार के दिनों में प्रसन्नए स्वस्थ और सुरक्षित रहें। हो सकता है कि अधिकतर बच्चों को स्वास्थ्यवर्धक खाना अच्छा न लगता हो। वह उसे खाने में आनाकानी करते हों। इन बच्चों के भोजन में पौष्टिक तत्वों को शामिल करना किसी भी पैरंट्स के लिए  काफी मुश्किल काम हो सकता है। इस हालत में पैरंट्स के लिए यह काफी जरूरी हो जाता है कि वह नए.नए तरीके से बच्चों के खाने में उनकी सेहत को दुरुस्त रखने वाले फूड आइटम्स को शामिल करेंए जिससे बच्चों को पौष्टिक खाना बेस्वाद न लगकर स्वादिष्ट लगे। इसी तरह का एक स्वादिष्ट और सेहतमंद फूड आइटम बादाम हैए जो आपके बच्चे की इम्युसनिटी बढ़ाने में योगदान दे सकता है। बादाम विटामिन.ई का बहुत अच्छा  स्त्रोत होता हैए जो बच्चों के फेफड़ों की इम्युरनिटी बढ़ाने के लिए एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करता है। विटामिन.ई वायरस और बैक्टीरिया से होने वाले संक्रमण से बच्चों को सुरक्षा प्रदान करने वाले तत्व के रूप में जाना जाता है। बादाम कॉपर का भी काफी उच्च स्त्रोत हैं। यह इम्यून सिस्टम की प्रणाली को सुचारू बनाए रखने में मदद करता है।1 बादाम में जिंक भी पाया जाता है। जिंक शरीर की इम्यु निटी बढ़ाने में केंद्रीय भूमिका निभाता है। यह शरीर के सामान्य विकास के लिए बेहद जरूरी है। यह जन्मजात इम्यूनिटी को बढ़ाने में दखल देने वाली कोशिकाओं की कार्यप्रणाली में सुधार करती है। शरीर में जीवाणुओं के कारण होने वाले संक्रमण को रोकने वाली श्वेत रक्त कोशिकाओंए न्यूट्रोफिल्स और कुदरती रूप से संक्रमण खत्म करने वाली किलर सेल्स को बढ़ावा देता है। आखिर में बादाम आयरन का सबसे अच्छा स्त्रोत है। आयरन इम्युमनिटी को बढ़ाने वाली कोशिकाओं को शरीर में फैलाने और विकास में प्रमुख भूमिका निभाता है। इसमें खासतौर से लिम्फोसाइट्स शामिल हैंए जो किसी भी तरह से संक्रमण से लड़ने में काफी कारगर होते हैं। 

आप अपने बच्चों के रोजाना के खाने में एक मुट्टठी बादाम जरूर शामिल करें। इससे लंबे समय के लिए बच्चों के शरीर में रोग से लड़ने की क्षमता मजबूत बनेगी! केला एक स्वादिष्ट और बिना किसी परेशानी के आसानी से खाया जाने वाला फल है। कई बच्चे केले को बड़े शौक से खाते हैंए जिससे आपके लिए अपने बच्चों के  भोजन में केले को शामिल करना आसान बन जाता है। केला कई पोषक तत्वों का अच्छा स्त्रोत होता है। इसमें विटामिन एए विटामिन सीए सेलिनियम और प्रोटीन पाया जाता हैए जो शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं क विकास में सहायता करता है। यह शरीर में प्रोटीन मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा देता है और खाने को आसानी से पचाने में मदद देता है। इसलिए आप फेस्टिव सीजन में बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए उसके खाने में एक केले को शामिल करना सुनिश्चित करें। आप इन्हें बच्चों को बनाना शेक या जूस के रूप में दे सकते हैं । उसे सेहतमंद ब्रेड के रूप में पकाकर या सेंककर बच्चों को दे सकते हैं या अपने बेटे या बेटी को शाम के नाश्ते में इसे ऐसे ही खाने को दे सकते हैं। हल्दी को शक्तिशाली भारतीय मसालों में से एक कहा जाता है। इसमें कैल्शियमए फाइबरए आयरन और जिंक जैसे पोषक तत्व शामिल होते हैं। यह पोषण प्रदान करने का आसान रूप हैए जिसका कई तरह से प्रयोग किया जाता है। आप हल्दी को सब्जी में मिलाकर बच्चों के भोजन में शामिल कर सकते हैं। आप बच्चों को दूध में भी हल्दी मिलाकर उन्हें दे सकते हैं। हल्दी को सूजन कम करने और जलन में राहत पहुंचाने के गुण के लिए भी जाना जाता हैए जो इम्यूनिटी को बढ़ा सकती है। इसके अलावा हल्दी में जीवाणुओं और विषाणुओं से लड़ने की भी ताकत होती है। यह शरीर की इम्युकनिटी को मजबूत बनाने में हमारी मदद करती है। इसलिए अपने बच्चों के भोजन में त्योहार से पहले और त्योहार के दौरान हल्दी को शामिल जरूर कीजिए।   

Comments

Popular posts from this blog

फिल्म फेयर एंड फेमिना भोजपुरी आइकॉन्स रंगारंग कार्यक्रम

अखिलेश ने मांगा लखनऊ के विकास के नाम वोट

कार्ल ज़ीस इंडिया ने उत्तर भारत में पहले अत्याधुनिक ज़ीस विज़न सेंटर का शुभारंभ