लोहिया में अब मरीजों को और सुरक्षित रक्त मिलेगा

ब्लड बैंक में आईडी नेट इनडीवुजल न्यूक्लीयर एसिड टेस्ट मशीन स्थापित लोहिया में अब मरीजों को और सुरक्षित रक्त मिलेगा लखनऊ। लोहिया संस्थान में मरीजों को और सुरक्षित खून मिलेगा। इसके लिए ब्लड बैंक में आईडी.नेट इनडीवुजल न्यूक्लीयर एसिड टेस्ट मशीन स्थापित की है। इसमें और कम समय में खून में पनपे एचआईवी व हेपेटाइटिस जैसे संक्रमण की पहचान की जा सकेगा। मशीन का ड्राई रन शुरू कर दिया गया है। जल्द ही मशीन का विधिवत शुभारंभ होगा। लोहिया संस्थान में करीब 1000 बेड हैं। प्रदेशभर से गंभीर मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। इन मरीजों दवा व ऑपरेशन आदि से इलाज के दौरान खून चढ़ाने की जरूरत पड़ रही है। रोजाना 100 से 150 यूनिट खून व अव्यय की खपत है। ब्लड बैंक में करीब 700 यूनिट खून है। अभी खून में संक्रमण का पता लगाने के लिए सिर्फ एलाइजा जांच कराई जा रही है। एलाइजा जांच से शरीर में 15 दिन पूर्व दाखिल हुए एचआईवी वायरस का पता लगा सकता है। जबकि आईडी.नेट से महज चार दिन पहले हुए एचआईवी वायरस के हमले का पता लगाया जा सकेगा। हेपेटाइटिस बी एलाइजा से 40 दिन के पूर्व हुए संक्रमण की पहचान की जा रही है। अब आईडी.नेट इनडीवुजल न्यूक्लीयर एसिड टेस्ट 15 दिन के भीतर संक्रमण की जानकारी हो सकेगी। इसी तरह 60 दिन बाद हुए हेपेटाइटिस.सी संक्रमण की पहचान हो रही है, जो आईडी.नेट इनडीवुजल न्यूक्लीयर एसिड टेस्ट से 2,5 दिन के भीतर हो सकेगी। इस समय अंतराल में पनपने वायरस या संक्रमण को विंडो पीरियड कहते हैं। मुफ्त होगी जांच संस्थान की निदेशक डॉ सोनिया नित्यानंद ने बताया मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराने की दिशा में यह कदम उठाए जा रहे हैं। आईडी नेट परखा खून से मरीजों में गंभीर संक्रमण से बचाने में मदद मिलेगी। अधिक सुरक्षित खून मरीजों को मुफ्त मुहैया कराया जाएगा। आईडी.नेट परखा खून का कोई शुल्क सरकारी अस्पताल में भर्ती मरीजों को नहीं चुकाना होगा। ढाई करोड़ रु की लागत से मशीन ब्लड बैंक में स्थापित की गई है। नेशनल हेल्थ मिशन एनएचएम के बजट से मशीन रीजेंट बेस्ड मंगाई है। संक्रमण का खतरा होगा कम संस्थान की निदेशक डॉ. सोनिया नित्यानंद ने बताया कि मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराने की दिशा में लगातार कदम उठाए जा रहे हैं। आईडी-नेट परखा खून से मरीजों में गंभीर संक्रमण से बचाने में मदद मिलेगी। जल्द ही मशीन का शुभारंभ कराया जाएगा। लखनऊ और पूर्वी U P में इस तरह की पहली मशीन लगाई गई है। कंपनी प्रतिनिधि सुरेंद्र जैन, नेशनल सेल्स मैनेजर हीमोजेनिक्स ने बताया कि मशीन रोज 1230 रक्त नमूनों की यूनिट जांच कर सकती है। अतः यह मशीन लखनऊ एवं पूर्वी उत्तरप्रदेश के सभी सरकारी ब्लड बैंको के रक्त नमूनों की जांच करने में सक्षम है। इससे पहले प्रदेश में एक मात्र आईडी नेट लैब AMU अलीगढ़ में है जहा से पश्चिम उत्तर प्रदेश के 8 ब्लड बैंको की नमूनों की जांच की जा रही है । ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. वीके शर्मा ने बताया कि सभी खून की एलाइजा जांच होगी एवं इसके साथ साथ आई-डी नेट जांच की जाएगी। मशीन का ट्रायल रन पूरा होते ही इसका लोकार्पण बहुत जल्दी कराया जाएगा । संस्थान के ब्लड बैंक द्वारा निदेशक महोदया के मार्ग दर्शन में सभी गर्भवती महिलाओ को बिना डोनर के रक्त उपलब्ध कराया जा रहा है। इस जांच का सभी खर्च नेशनल हेल्थ मिशन उत्तर प्रदेश के द्वारा की जा रही है ------------------------------------- Ram Manoher Lohiya Hospital Blood Bank in Lohiya Lucknow

Comments

Popular posts from this blog

सुपरस्टार रणबीर कपूर की उपस्थित में मॉल लुलु मॉल में 11-स्क्रीन सिनेमा हॉल का शुभारंभ

फिल्म फेयर एंड फेमिना भोजपुरी आइकॉन्स रंगारंग कार्यक्रम

अखिलेश ने मांगा लखनऊ के विकास के नाम वोट